आंध्र प्रदेश का CLAP अभियान

57

आंध्र प्रदेश सरकार द्वारा 2 अक्टूबर को ‘स्वच्छ आंध्र प्रदेश- जगन्ना स्वच्छ संकल्प कार्यक्रम’ (Clean Andhra Pradesh (CLAP) – JaganannaSwachhaSankalpamprogramme) की शुरुआत ग्रामीण क्षेत्रों को साफ करने, स्वच्छता की स्थिति में सुधार और सार्वजनिक भागीदारी के साथ अपशिष्ट प्रबंधन के उद्देश्य से की गयी थी।

इस अभियान के तहत, ग्रामीण परिवारों से कूड़ा-करकट को सड़कों पर न फेकने और उसे कूड़ा उठाने वाले को सौंपने का आग्रह किया जाता है।

घर-घर जाकर कचरे का संग्रह करने के अलावा, इस अभियान का उद्देश्य, तरल और ठोस कचरे को अलग करना, कचरे का यथा-स्थल पर उपचार करना और घर में खाद बनाने को प्रोत्साहित करना है।

मुख्य बिंदु

  • सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों की सफाई, स्वच्छता की स्थिति में सुधार और सार्वजनिक भागीदारी के साथ अपशिष्ट प्रबंधन के लिए CLAP कार्यक्रम शुरू किया है।
  • इस अभियान के तहत, ग्रामीण परिवारों को सलाह दी जाती है कि वे सड़कों पर कचरा न डालें और इसके बजाय कचरा कलेक्टर को सौंप दें।

स्वच्छता अभियान कौन चलाएगा?

CLAP अभियान के लांच से पहले, लगभग 13,000 सरपंचों और 1,200 जिला और मंडल अधिकारियों ने UNICEF WASH (Water, Sanitation and Hygiene) द्वारा आयोजित स्वच्छता अभियान पर एक ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लिया। सरकार ने यह अभियान चलाने के लिए ग्राम पंचायत कार्यकर्ताओं और अधिकारियों, ग्राम और वार्ड सचिवालयों के सदस्यों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और जिला और मंडल परिषद क्षेत्रीय निर्वाचन क्षेत्रों के सदस्यों को तैनात किया है।