इंडोनेशिया द्वारा राजधानी में परिवर्तन

88

चर्चा में क्यों ?

हाल ही में, इंडोनेशियाई संसद ने देश की राजधानी को स्थानांतरित करने का प्रस्ताव पारित किया है। 

प्रमुख बिंदु

इंडोनेशिया ने अपनी वर्तमान राजधानी जकार्ता को बोर्नियो द्वीप के पूर्वी हिस्से में स्थित पूर्वी कालीमंतन प्रांत में स्थानांतरित करने का निर्णय लिया है। विदित है कि वर्ष 1949 में इंडोनेशिया की स्वतंत्रता के बाद से ही जकार्ता इसकी राजधानी है।

नई राजधानी को ‘नुसंतारा’ नाम दिया गया है। जावा भाषा में ‘नुसंतारा’ का अर्थ ‘द्वीपसमूह’ होता है। यहाँ घने जंगल तथा ओरंगुटान कपि (Orangutans Apes) पाए जाते है।

राजधानी स्थानांतरण का प्रारंभिक चरण वर्ष 2022 से 2024 के मध्य शुरू होगा। नया शहर ‘राज्य राजधानी प्राधिकरण’ नामक एक निकाय द्वारा शासित होगा।

उल्लेखनीय है कि बोर्नियो द्वीप को इंडोनेशियाई के अतिरिक्त मलेशिया और ब्रुनेई देश भी साझा करते हैं।

राजधानी परिवर्तन का कारण 

इंडोनेशिया ने बाढ़, समुद्री जलस्तर में वृद्धि, प्रदूषण तथा बढ़ती जनसंख्या के कारण राजधानी में परिवर्तन का निर्णय लिया है। 

इंडोनेशिया से पूर्व म्यांमार (रंगून/यांगून से नायपीदॉ), ब्राज़ील (रियो डी जनेरियो से ब्रासीलिया), नाइजीरिया (लागोस से ​​अबुजा) तथा कज़ाकिस्तान (अलमाटी से अस्ताना/नूर-सुल्तान) जैसे देश भी अपनी राजधानी परिवर्तित कर चुके हैं।