कश्मीर में निवेश की बढ़ती अनुकूलता

71

चर्चा में क्यों

जम्मू-कश्मीर में निवेश के लिये बढ़ती अनुकूल स्थितियों को देखते हुए संयुक्त अरब अमीरात (UAE), हांगकांग और सऊदी अरब की 33 कंपनियों ने निवेश में रूचि दिखाई है।

प्रमुख बिंदु

गौरतलब है कि यह कदम जम्मू-कश्मीर प्रशासन और संयुक्त अरब अमीरात स्थित कंपनियों के बीच हुए एक समझौता ज्ञापन का ही अनुगामी है, जिसके तहत जम्मू-कश्मीर में 3,000 करोड़ रुपए के निवेश की परिकल्पना की गई थी। इसी कड़ी में मार्च में ‘गल्फ बिज़नेस समिट’ का भी आयोजन किया गया।

उल्लेखनीय है कि कश्मीर में निवेश हेतु लगभग 16,000 कनाल (1,999.9 एकड़) भूमि बैंक को पहले ही कंपनियों के लिये अनुमति दी जा चुकी है।

यह कश्मीर को असुरक्षित जगह मानने की धारणा को खत्म करने की दिशा में एक प्रयास है, ताकि जम्मू-कश्मीर में प्रमुख अवसरों और विकास क्षेत्रों को उजागर करके उद्योगों और पर्यटन में नए निवेश को आकर्षित किया जा सके।