क्वाड समूह (Quad Group)

73

संदर्भ:
चीन और रूस के मध्य संबंधों की बढ़ती घनिष्टता को देखते हुए, अमेरिका द्वारा अपने ‘क्वाड सहयोगियों’ (Quad partners) के साथ “सहयोग, अनुबंध, रणनीतिक और आर्थिक संबंधों को बढ़ाने” हेतु योजना बनाई जा रही है।
अमेरिकी सहयोग योजना के केंद्रीय क्षेत्र:
राष्ट्रीय सुरक्षा जोखिमों के प्रबंधन हेतु रचनात्मक और समग्र तरीके खोजते हुए, शासन के सभी स्तरों पर सहयोगी देशों के मध्य संबंधों को और मजबूत करना।
समूह के चारों सदस्य देशों में राष्ट्रीय और उप-राष्ट्रीय अधिकारियों के मध्य अंतरराष्ट्रीय संबद्धता पर बेहतर समन्वय की सुविधा प्रदान करना।
आवश्यकता:
वर्तमान में, चीन और क्वाड समूह के सदस्यों के मध्य कई विषयों पर प्रतिस्पर्धा जारी है, ऐसे में जोखिम कम करने वाले तरीकों में, रचनात्मक रूप से संलग्न होने की विधियां खोजना काफी महत्वपूर्ण होगा।
‘क्वाड ग्रुपिंग’ (Quad grouping):
क्वाड (Quad), जापान, भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया देशों का एक चतुष्पक्षीय सुरक्षा वार्ता संगठन है।
इस समूह के सभी सदस्य राष्ट्र लोकतांत्रिक राष्ट्र होने साथ-साथ गैर-बाधित समुद्री व्यापार तथा सुरक्षा संबंधी हित साझा करते हैं।
इस समूह को अक्सर “एशियाई” या “मिनी” नाटो कहा जाता है, और इसे भारत-प्रशांत क्षेत्र में चीन के सैन्य और आर्थिक दबदबे के जबाब के रूप में देखा जाता है।
क्वाड समूह की उत्पत्ति:
क्वाड समूह की उत्पत्ति के सूत्र, वर्ष 2004 में आयी सुनामी के बाद राहत कार्यों के लिए चारो देशों द्वारा किए गए समन्वित प्रयासों में खोजे जा सकते हैं।
इसके बाद, इन चारो देशों के मध्य वर्ष 2007 में हुए आसियान शिखर सम्मेलन के दौरान पहली बार बैठक हुई।
इसका उद्देश्य, जापान, भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया, चारो देशों के मध्य समुद्री सहयोग बढ़ाना था।