गोवा, “हर घर जल” प्रमाणन प्राप्त करने वाला पहला राज्य

93

गोवा शत-प्रतिशत हर घर जल प्रमाणन प्राप्‍त करने वाला देश का पहला राज्‍य बन गया है।
सरकार के मुताबिक, गोवा में हर घर में नल के जरिए साफ पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। राज्य सरकार ने सभी 378 गांवों को ‘हर घर जल’ घोषित कर दिया है।
गोवा के सभी 2,63,013 ग्रामीण घरों में नल का पानी उपलब्ध कराया गया है।
इस मौके पर पीएम नरेन्द्र मोदी ने ‘हर घर जल उत्सव’ कार्यक्रम को संबोधित किया। इस कार्यक्रम में गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत और केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत भी मौजूद हैं।
पीएम ने कहा कि यह गोवा के लिए और ‘हर घर जल’ सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के लिए एक विशेष दिन है।

भारत सरकार के प्रमुख कार्यक्रम, जल जीवन मिशन, का अनावरण 15 अगस्त, 2019 को लाल किले की प्राचीर से इसके अग्रगामी प्रधान मंत्री द्वारा किया गया था।
2024 तक, लक्ष्य देश के प्रत्येक ग्रामीण परिवार को जल जीवन मिशन में एक विश्वसनीय, उचित मात्रा में पीने योग्य नल के पानी की दीर्घकालिक आपूर्ति और आवश्यक गुणवत्ता प्रदान करने की उम्मीद करता है।
यह पहल भारत सरकार द्वारा राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के सहयोग से की जाती है।
COVID-19 महामारी के दौरान कई असफलताओं और कठिनाइयों के बावजूद, यह सफलता गोवा के पंचायत सदस्यों, पानी समितियों के निरंतर प्रयासों का परिणाम है।


हर घर जल: जल जीवन मिशन
सरकार ने जल जीवन मिशन या हर घर जल योजना का एलान 2020-21 के बजट में किया था। इसका मकसद देश के सभी घरों में पाइपलाइन से साफ पानी पहुंचाना है।
यह लक्ष्‍य पूरा करने के लिए 2024 तक का समय तय किया गया है।
जल जीवन मिशन के तहत प्रत्येक गाँव में 5 व्यक्तियों को प्रशिक्षित किया जाता है विशेषकर महिलाओं को ‘फील्ड टेस्ट किट’(Field Test Kits) का उपयोग करने के लिये प्रशिक्षित किया जाता हैl