चरक शपथ

167

हाल ही में, राजकीय मदुरै मेडिकल कॉलेज के MBBS प्रथम वर्ष के छात्रों को दीक्षा समारोह के दौरान पारंपरिक रूप से अंग्रेजी में ‘हिप्पोक्रेटिक शपथ’ (Hippocratic Oath) की जगह संस्कृत में ‘महर्षि चरक शपथ’  (Charaka Shapath) दिलवायी गयी थी। महर्षि चरक शपथ दिलाने के मामले के बाद 1 मई को मदुरै सरकारी मेडिकल कॉलेज के डीन को पद से हटा दिया गया है।

‘चरक शपथ’ क्या है?

‘चरक शपथ’, पहली-दूसरी शताब्दी ईस्वी में भारतीय पारंपरिक चिकित्सा ‘आयुर्वेद’ पर संस्कृत भाषा में रचित पर एक ग्रंथ ‘चरक संहिता’ का एक अंश है। यह एक शिक्षक द्वारा नए मेडिकल छात्रों के लिए दिए जाने वाले दिशानिर्देश है, कि क्या करें और क्या न करें।

‘हिप्पोक्रेटिक शपथ’ क्या है?

यह चिकित्सकों द्वारा ली जाने वाले ‘नैतिकता की शपथ’ (oath of ethics) है और पूरे विश्व में इसका प्रचलन है। इसका श्रेय यूनानी चिकित्सक ‘हिप्पोक्रेट्स’ (Hippocrates) को दिया जाता है। इस शपथ की रचना ‘ईसा पूर्व चौथी-पांचवीं शताब्दी’ में ग्रीक भाषा में की गयी थी।

संबंधित विवाद:

मदुरै मेडिकल कॉलेज के MBBS प्रथम वर्ष के छात्रों को शपथ संस्कृत में दिलाई गई। इसने एक विवाद उत्पन्न हो गया। यह घटना, केंद्र सरकार और तमिलनाडु के बीच पहले से ही जारी भाषा विवाद के बीच हुई थी।