छत्तीसगढ़ अमर जवान ज्योति

113

छत्तीसगढ़ अमर जवान  ज्योति का निर्माण चैथी वाहिनी छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल माना रायपुर के परिसर में किया जायेगा। शहीदों के सम्मान में छत्तीसगढ़ अमर जवान ज्योति अनवरत जलती रहेगी। छत्तीसगढ़ अमर जवान ज्योति का भूमि पूजन सांसद राहुल गांधी के हाथों आगामी 03 फरवरी को किया जायेगा।

मुख्य बिंदु

1972 में हमारी प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी जी ने देश के शहीद वीर सैनिकों के सम्मान में दिल्ली में अमर जवान ज्योति प्रज्वलित की थी, जो 1972 से लगातार जलती आ रही थी। लेकिन केंद्र सरकार ने ‘अमर जवान ज्योति’ को इंडिया गेट से हटाकर राष्ट्रीय समर स्मारक में स्थानांतरित कर दिया। इंडिया गेट पर जलती हुई ‘अमर जवान ज्योति’ आने-जाने वालों को दिखती रहती थी। वह देश के शहीदों के प्रति गर्व और कृतज्ञता का भाव पैदा करती थी।

इस दीवार को ब्राउन मार्बल से बनाया जाएगा और इसमें शहीदों के नामों को इसी मार्बल से उकेरे जाएंगे। यह दीवार लगभग 25 फुट ऊंची और करीब 100 फुट लंबी होगी तथा अर्धचंद्राकार रूप में होगी और इस दीवार की मोटाई तीन फुट होगी।

मेमोरियल टावर की स्थापना अर्धचंद्राकार दीवार के सामने बलुआ पत्थर, ब्राउन व्हाइट मार्बल, ग्रेनाइट से की जाएगी। इसके शीर्ष में स्मृति चिन्ह का निर्माण कराया जाएगा।

मेमोरियल टावर के सामने आधार पर राइफल और हेलमेट प्रतीक चिन्ह के रूप में रहेगा और इसी प्रतीक चिन्ह के सामने छत्तीसगढ़ ‘अमर जवान ज्योति’ होगी, जो भूमिगत पाइप लाइन के माध्यम से ईंधन आपूर्ति से 24 घंटे प्रज्वलित होगी।

 मेमोरियल टावर के ठीक सामने किलानुमा दो मंजिला भवन का निर्माण कराया जाएगा और भवन के प्रथम तल पर शहीदों के चित्र की प्रदर्शनी और द्वितीय तल पर शस्त्र प्रदर्शनी रखी जाएगी।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी तीन फरवरी को छत्तीसगढ़ दौरे पर रहेंगे जिस दौरान वह राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना और राजीव युवा मितान क्लब योजना की शुरुआत करेंगे तथा नवा रायपुर में स्थापित किए जाने वाले ‘सेवाग्राम’ का शिलान्यास भी करेंगे।