नया परमाणु रिएक्टर

150

चर्चा में क्यों?

हाल ही में, रूस ने तमिलनाडु में कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा संयंत्र (Kudankulam Nuclear Power Plant: KNPP) में 6वें रिएक्टर का निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया है।

प्रमुख बिंदु

निर्माण कार्य रूस की परमाणु इंजीनियरिंग कंपनी एटमैश (Atommash) द्वारा किया जा रहा है, जबकि रूसी कंपनी रोसाटॉम (Rosatom) कुडनकुलम संयंत्र के निर्माण के लिये प्रौद्योगिकी प्रदान कर रही है।

इसमें प्रत्येक में 1,000 मेगावाट क्षमता की 6 इकाइयाँ शामिल हैं। के.एन.पी.पी. भारत का सबसे बड़ा परमाणु ऊर्जा केंद्र है।

उल्लेखनीय है कि दिसंबर 2021 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच संपन्न 21वें वार्षिक शिखर सम्मेलन के पश्चात् इस रिएक्टर का निर्माण कार्य शुरू हुआ है।

भारत और रूस ने बांग्लादेश में रूपपुर परमाणु ऊर्जा संयंत्र की स्थापना में सफल सहयोग का उल्लेख किया और तीसरे देशों में भी इसी तरह के सहयोग का पता लगाने की इच्छा व्यक्त की है।