बिलासपुर जोन का सर्वश्रेष्ठ स्टेशन बना रायपुर

127
NDI=rGK vqJo bÆg hu˜Ju fuU bntŒck"fU YfuU sil fuU nt:tuk htgvwh zeythYb ëgtb mwk=h dwË;t rNÖz ˜u;u ýY

बिलासपुर जोन के 300 रेलवे स्टेशनों में रायपुर ने सर्वश्रेष्ठ स्टेशन का पुरस्कार जीता है। इस पुरस्कार के लिए सफाई, निर्धारित समय में ट्रेनों का परिचालन, स्टेशन पर यात्रियों के लिए पानी का प्रबंध, यात्रियों के बैठने की व्यवस्था, शिकायत का निराकरण और स्टेशन के रखरखाव को मापदंड बनाया गया था। इन मापदंडों में रायपुर स्टेशन प्रथम स्थान पर आया। जोन के महाप्रबंधक एके जैन ने रायपुर मंडल के डीआरएम श्याम सुंदर गुप्ता को ये सम्मान अपने हाथों से दिया। डीआरएम ने इस सफलता का श्रेय पूरी टीम को दिया है।
ज्ञात हो कि दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के अंतर्गत आने वाले नागपुर, बिलासपुर और रायपुर मंडल में कुल छोटे-बड़े 300 रेलवे स्टेशन शामिल हैं। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर होने की वजह से इस स्टेशन में दिनों दिन यात्रियों की संख्या में इजाफा हो रहा है।
रायपुर स्टेशन से एक दिन में कुल 50 हजार यात्री सफर करते हैं। स्टेशन पर सफाई व्यवस्था, स्टेशन पर यात्रियों के लिए व्यवस्था इसके साथ यात्रियों की फीड बैक लेकर पूरे जोन के स्टेशनों के साथ सभी मापदंडों को परखा जाता है। मापदंडों पर खरा उतरने वाले स्टेशनों को यह पुरस्कार दिया जाता है। रायपुर स्टेशन एक बार फिर अपनी सुंदरता एवं सुविधाओं के चलते सभी रेलवे स्टेशनों को पछाड़ते हुए नंबर वन बन गया है।
चार स्टेशनों में थी प्रमुख टक्कर
बिलासपुर रेलवे जोन में तीन मंडल हैं। बिलासपुर, रायपुर और नागपुर रेलवे मंडलों में बिलासपुर, रायपुर, दुर्ग और नागपुर स्टेशन बड़े स्टेशन माने जाते हैं। इसके अतिरिक्त मध्यम श्रेणी के 100 से अधिक स्टेशन हैं। छोटे स्टेशनों की संख्या लगभग 200 तक है। प्रतियोगिता के मापदंडों में प्रमुख रूप से चार स्टेशनों, बिलासपुर, रायपुर, दुर्ग और नागपुर के ही बीच टक्कर थी। मापदंडों में रायपुर रेलवे स्टेशन ने अपनी श्रेष्ठता सिद्ध की है।
रायपुर रेलवे स्टेशन को बड़े स्टेशनों में बेस्ट स्टेशन का अवार्ड मिला है। इसमें सफाई से लेकर यात्रियों को मिलने वाली सुविधाओं और स्टेशन के रख रखाव को मापदंड बनाया गया था। हमने इसमें अपनी श्रेष्ठता सिद्ध की है।
-राकेश सिंह, डायरेक्टर रायपुर स्टेशन