भारत : COVID-19 डीएनए वैक्सीन लगाने वाला पहला देश बना

75

भारत COVID-19 के खिलाफ डीएनए वैक्सीन लगाने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है। जायकोव-डी (ZyCoV-D) जो दुनिया का पहला प्लास्मिड डीएनए वैक्सीन है, अहमदाबाद स्थित वैक्सीन निर्माता ज़ायडस कैडिला (Zydus Cadila) द्वारा निर्मित किया गया है और इसे पहली बार पटना में प्रशासित किया गया था।

यह दर्द रहित और बिना सुई का टीका है जो 28 दिन और 56 दिन के अंतराल पर दिया जाता है। भारत बायोटेक के कोवैक्सिन के बाद भारत में आपातकालीन प्राधिकरण प्राप्त करने वाला यह दूसरा भारत निर्मित टीका है।

भारत सरकार ने इस साल की शुरुआत में जाइडस कैडिला के डीएनए वैक्सीन को आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दी थी. यह मंजूरी तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल के बाद आए परिणामों के आधार पर दी गई. इसके तहत यह वैक्सीन इस संक्रमण के लिए करीब 66 प्रतिशत प्रभावी है।

इस साल की शुरुआत में मिली थी मंजूरी

भारत सरकार ने इस साल की शुरुआत में अहमदाबाद स्थित वैक्सीन निर्माता कंपनी Zydus Cadila के DNA वैक्सीन को आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दी थी. यह मंजूरी तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल के बाद आए परिणामों के आधार पर दी गई. इसके तहत यह वैक्सीन इस संक्रमण के लिए करीब 66 प्रतिशत प्रभावी है.