भारत, ECOSOC के चार प्रमुख निकायों के लिए चयनित

122

हाल ही में भारत, संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक परिषद (ECOSOC) के चार प्रमुख निकायों के लिए चयनित हुआ है।

संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक परिषद (ECOSOC) संयुक्त राष्ट्र प्रणाली के छह प्रमुख अंगों में से एक है। इसकी स्थापना वर्ष 1945 में संयुक्त राष्ट्र चार्टर के तहत हुई थी।

ECOSOC के सदस्यों की संख्या 54 है। यह सतत विकास के तीन आयामों- आर्थिक, सामाजिक और पर्यावरण के क्षेत्र में प्रगति पर नजर रखने वाला संयुक्त राष्ट्र प्रणाली का केंद्रीय अंग है।

इसके सदस्य संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा चुने जाते हैं।

भारत को अफगानिस्तान, कजाकिस्तान और ओमान के साथ पिछले वर्ष 2022-24 की अवधि हेतु UN-  ECOSOC के लिए चुना गया था। इन्हें एशिया-प्रशांत देशों की श्रेणी  में चुना गया है।

ECOSOC के चार निकाय निम्नलिखित हैं:

सामाजिक विकास आयोग : यह ECOSOC को सामान्य प्रकृति की सामाजिक नीतियों पर परामर्श प्रदान करता है। इसके अतिरिक्त, यह विशेष रूप से, सामाजिक क्षेत्र के उन सभी मामलों पर भी सलाह देता है, जिन पर विशेषीकृत अंतर-सरकारी एजेंसियां विचार नहीं करती हैं।

गैर–सरकारी संगठनों पर समिति: यह गैर-सरकारी संगठनों द्वारा प्रस्तुत सलाहकार दर्जा प्राप्त करने के लिए आवेदनों और पुनर्वर्गीकरण के अनुरोधों पर विचार करती है। इसके अतिरिक्त, गैर-सरकारी संगठनों द्वारा प्रस्तुत चार वर्षीय रिपोटों पर भी विचार करती है।

विकास के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी आयोग (CSTD): यह विज्ञान, प्रौद्योगिकी और विकास को प्रभावित करने वाले सामयिक और प्रासंगिक मुद्दों पर चर्चा के लिए एक वार्षिक अंतर-सरकारी मंच का आयोजन करता है

आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक अधिकारों पर समिति (CESCR) : यह समिति निकाय के पक्षकार देशों द्वारा आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक अधिकारों पर अंतर्राष्ट्रीय अभिसमयों के कार्यान्वयन पर नज़र रखती है।