मंकीपॉक्स वायरस

62

कोरोना महामारी के बीच अब मंकीपॉक्स (Monkeypox virus outbreak) ने भी दस्तक दे दी है. स्वास्थ्य विशेषज्ञ के अनुसार क्या दुनिया में फैल रही नई बीमारी ‘मंकीपॉक्स’ (Monkeypox) की वजह ‘रिलेशन’ बनाना है. स्वास्थ्य विशेषज्ञ ने इस विषय पर लोगों को सजग करते हुए बड़ी चेतावनी जारी की है. डॉक्टरों केअनुसार यदि आप ‘मंकीपॉक्स’ (Monkeypox) से पीड़ित किसी व्यक्ति के साथ रिलेशन बनाते हैं तो आपके भी इस बीमारी से संक्रमित हो जाने की बहुत ज्यादा आशंका है. 

मंकीपॉक्स वायरस के मामले

मंकीपॉक्स वायरस के मामले विश्व के अलग-अलग क्षेत्रों से भी आ रहे हैं. यह वायरस अब विश्वभर में अपना पैर फैला रहा है. ब्रिटेन में 06 मई 2022 से अब तक मंकीपॉक्स के नौ केस की पुष्टि की जा चुकी है. वहीं अमेरिका ने 18 मई 2022 को कनाडा की यात्रा कर लौटे एक नागरिक में मंकीपॉक्स वायरस के संक्रमण के पहले मामले की पुष्टि की है.

मंकीपॉक्स वायरस क्या है?

यह रोग मंकीपॉक्स नामक विषाणु से फैलता है. इसका संक्रमण कुछ हद तक मनुष्यों में चेचक के समान है. मंकीपॉक्स की खोज साल 1958 में बंदरों के एक समूह से हुई थी, जिसके कारण इसे मंकीपॉक्स नाम दिया गया था. मंकीपॉक्स वायरस की उत्पत्ति पश्चिम एवं मध्य अफ्रीका के देशों में हुई थी. इस इलाकों में लोग हमेशा जंगली जानवरों के संपर्क में आते रहते हैं. इस दौरान जानवरों के काटने, खरोंचने और जंगली जानवरों के मांस (Bushmeat) को खाने के वजह से यह बीमारी इंसानों में प्रवेश कर जाती है.