राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रूपरेखा

90

संदर्भ:

हाल ही में केंद्रीय शिक्षा मंत्री  द्वारा ‘कार्यादेश दस्तावेज: राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रूपरेखा (NCF) के विकास के लिए दिशा-निर्देश’ जारी किए गए।

पृष्ठभूमि:

राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP), 2020 में चार क्षेत्रों– स्‍कूल शिक्षा, बचपन में आरंभिक देखभाल और शिक्षा (ईसीसीई), अध्‍यापक शिक्षा और प्रौढ़ शिक्षा में ‘राष्ट्रीय पाठ्यक्रम की रूपरेखा’ (National Curriculum Framework – NCF) विकसित करने की सिफारिश की गयी है।

राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रूपरेखा (NCF) के बारे में:

राष्ट्रीय पाठ्यक्रम की रूपरेखा (NCF) में, स्कूली शिक्षा के लिए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रूपरेखा (NCFSE), प्रारंभिक बचपन की देखभाल और शिक्षा के लिए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रूपरेखा (NCFECCE), शिक्षक शिक्षा के लिए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रूपरेखा (NCFTE), और प्रौढ़ शिक्षा के लिए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रूपरेखा (NCFAE) शामिल हैं।

महत्व:

यह ‘कार्यदेश दस्तावेज़’ (Mandate Document) बच्चों के समग्र विकास, कौशल पर जोर,शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका, मातृभाषा में सीखने, और सांस्कृतिक जुड़ाव पर ध्यान देते हुए एक आदर्श बदलाव लाएगा। यह भारतीय शिक्षा प्रणाली की राजनैतिक स्वतंत्रता की दिशा में भी एक बड़ा कदम है।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रमुख बिंदु:   

केंद्र तथा राज्यों द्वारा शिक्षा पर सार्वजनिक व्यय को GDP के 6% तक बढ़ाया जायेगा।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय का नाम बदलकर शिक्षा मंत्रालय किया जाएगा।