रिलायंस : 100 बिलियन अमरीकी डालर वार्षिक राजस्व हासिल करने वाली पहली भारतीय कंपनी

109

रिलायंस इंडस्ट्रीज, 100 अरब डॉलर से अधिक का वार्षिक राजस्व दर्ज़ करने वाली पहली भारतीय कंपनी बन गई है। 31 मार्च, 2022 को समाप्त चौथी तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज के समेकित शुद्ध लाभ में 22.5 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी दर्ज़ की गई। रिलायंस ने खुदरा, डिजिटल सेवाओं और तेल और गैस कारोबार में मज़बूत वृद्धि दर्ज़ की है। कंपनी ने साल-दर-साल 33,968 करोड़ रुपये (28%) की उच्चतम तिमाही EBITDA (ब्याज, कर, मूल्यह्रास और परिशोधन से पहले कमाई – earnings before interest, taxes, depreciation and amortisation) की भी रिपोर्ट की है।

ब्रॉडबैंड ग्राहकों की संख्या में वृद्धि, ऑनलाइन खुदरा बिक्री में वृद्धि और नई ऊर्जा निवेश की जड़ें बढ़ने और मज़बूत होने के कारण भी रिलायंस की आय में वृद्धि हुई।

बाज़ार मूल्य के हिसाब से देश की सबसे बड़ी कंपनी का समेकित राजस्व वित्त वर्ष – 22 की चौथी तिमाही में सालाना आधार पर 35 फीसदी बढ़कर 2.32 लाख करोड़ रुपये हो गया।

पूरे वित्तीय वर्ष 2021-22 (अप्रैल 2021 से मार्च 2022) में रिलायंस ने 7.92 लाख करोड़ रुपये (USD 102 बिलियन) के राजस्व पर 60,705 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ अर्जित किया।

यह पहली भारतीय कंपनी है जिसने एक साल में 100 अरब अमेरिकी डॉलर का राजस्व पार किया है।

  • रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के सीईओ: मुकेश अंबानी (31 जुलाई 2002- अब तक);
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के संस्थापक: धीरूभाई अंबानी;
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की स्थापना: 8 मई 1973, महाराष्ट्र;
  • रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड मुख्यालय: मुंबई।