रेलवे की पुनर्गठन योजना

16

चर्चा में क्यों

हाल ही में, भारतीय रेलवे ने ‘सामरिक प्रौद्योगिकी एवं समग्र उन्नति के लिये विशेष रेलवे प्रतिष्ठान’ (Special Railway Establishment for Strategic Technology and Holistic Advancement : SRESTHA/श्रेष्ठ), लखनऊ को बंद करने की घोषणा की है।

श्रेष्ठ निदेशालय

श्रेष्ठ निदेशालय की स्थापना मार्च 2016 में तकनीकी उन्नयन की आवश्यकता वाले दीर्घकालिक रेलवे अनुसंधान परियोजनाओं को शुरू करने के उद्देश्य से ‘अनुसंधान डिजाइन एवं मानक संगठन’ (RDSO) के एक हिस्से के रूप में की गयी थी।

उल्लेखनीय है कि भारतीय रेलवे वैकल्पिक ईंधन संगठन, नई दिल्ली को 7 सितंबर, 2021 को बंद कर दिया गया था।

प्रमुख कोच फैक्ट्री

 स्थान

इंटीग्रल कोच फैक्ट्री

 चेन्नई

रेल कोच फैक्ट्री

 कपूरथला

मॉडर्न कोच फैक्ट्री

 रायबरेली

अन्य प्रस्ताव

पुनर्गठन योजना के अंतर्गत रेलवे ने आर.डी.एस.ओ. के 32 निदेशालयों को विलय करके उन्हें सात कार्यक्षेत्रों, यथा- ‘प्रशासन’, ‘बुनियादी ढांचा’, ‘रोलिंग स्टॉक’, ‘ट्रैक्शन एवं विद्युत् आपूर्ति’, ‘सिग्नल एवं दूरसंचार’, ‘संसाधन एवं परीक्षण’ तथा ‘यातायात एवं मनोविज्ञान’ के तहत लाने का प्रयास किया है।

साथ ही, भू-तकनीक इंजीनियरिंग निदेशालय का विलय ‘ट्रैक तथा पुल एवं संरचना निदेशालय’ के साथ किया जाएगा।

इसके अतिरिक्त, केंद्रीय रेलवे विद्युतीकरण संगठन (CORE), केंद्रीय कार्यशाला आधुनिकीकरण संगठन (COFMOW) और रेलवे सूचना प्रणाली केंद्र (CRIS) जैसे संगठनों को भी बंद करने का प्रस्ताव है।