लाइट-मेंटल अल्बाट्रॉस

128

चर्चा में क्यों ?
 रामेश्वरम और मन्नार की खाड़ी समुद्री राष्ट्रीय उद्यान के आसपास के द्वीप अपने अद्वितीय समुद्री पारिस्थितिकी तंत्र के लिए जाने जाते हैं और भारत के दक्षिण-पूर्वी तट पर एक ‘महत्वपूर्ण पक्षी क्षेत्र’ है।


 यह क्षेत्र चर्चा में है, क्योंकि एशिया में पहली बार लाइट-मेंटल अल्बाट्रॉस (फोबेट्रिया पैल्पब्रेट) देखा गया, जो अंटार्कटिक समुद्रों की मूल निवासी प्रजाति थी।


 रामेश्वरम द्वीप, तमिलनाडु, से लाइट-मेंटेड अल्बाट्रॉस फोबेट्रिया पलपेब्रेटा का पहला एशियाई रिकॉर्ड, जर्नल ऑफ थ्रेटन टैक्सा में प्रकाशित हुआ है।
 यह खोज शोधकर्ताओं को प्रसिद्ध और स्थापित मार्गों से अलग पक्षियों के प्रवास की तलाश करने का निर्देश देती है।


 चूंकि पक्षी की निकटतम दर्ज की गई साइट रामेश्वरम से लगभग 5,000 किमी दूर है, वायुमंडलीय दबाव में बदलाव अल्बाट्रॉस के भारतीय तट पर उतरने के कारणों में से एक हो सकता है।