विश्व प्रतिस्पर्द्धात्मकता सूचकांक 2022

341

चर्चा में क्यों? 

हाल ही में प्रबंधन विकास संस्थान (IMD) द्वारा वार्षिक विश्व  प्रतिस्पर्द्धात्मकता सूचकांक 2022 जारी किया गया। 

  • आईएमडी स्विट्रज़लैंड में स्थित एक स्विस फाउंडेशन है, जो अपने कॅरियर के प्रत्येक चरण में अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के विकास के लिये समर्पित है। 
  • भारत ने एशियाई अर्थव्यवस्थाओं में सबसे तेज़ वृद्धि दर्ज की है, जिसमें भारत 43वें से 37वें स्थान पर पहुँच गया है, जिसका मुख्य कारण आर्थिक प्रदर्शन में वृद्धि है। 

विश्व  प्रतिस्पर्द्धात्मकता सूचकांक 2022: 

  • परिचय: 
    • आईएमडी वर्ल्ड कॉम्पिटिटिवनेस ईयरबुक (WCY) पहली बार 1989 में प्रकाशित हुई, यह एक व्यापक वार्षिक रिपोर्ट और देशों की प्रतिस्पर्द्धा पर विश्वव्यापी संदर्भ बिंदु है। 
    • यह देशों का विश्लेषण और रैंक करता है कि वे दीर्घकालिक मूल्यों को प्राप्त करने के लिये अपनी दक्षताओं का प्रबंधन कैसे करते हैं। 
  • कारक: यह चार कारकों (334 प्रतिस्पर्द्धात्मकता मानदंड) की जाँच करके देशों की समृद्धि और प्रतिस्पर्द्धात्मकता को मापता है: 
    • आर्थिक प्रदर्शन 
    • सरकारी दक्षता 
    • व्यापार दक्षता 
    • आधारभूत संरचना