विश्व प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक-2022

94

चर्चा में क्यों
हाल ही में, रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स ने ‘विश्व प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक-2022’ जारी किया। यह इस सूचकांक का 20वां संस्करण है।


रिपोर्ट के प्रमुख बिंदु
विश्व प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक-2022 180 देशों और क्षेत्रों में पत्रकारिता की स्थिति का आकलन करता है।
आगत वर्ष भारत इस सूचकांक में 142वें स्थान पर था जबकि इस वर्ष वह 150वें स्थान पर गया है।
नवीनतम रिपोर्ट में शीर्ष तीन स्थानों पर क्रमश: नॉर्वे, स्वीडन तथा डेनमार्क है। ये तीनों नॉर्डिक देश हैं। इस सूचकांक में अंतिम तीन स्थानों पर क्रमश: ईरान, इरीट्रिया और उत्तर कोरिया (180वें) हैं।
नेपाल को छोड़कर भारत सहित उसके पड़ोसी देशों की रैंकिंग में भी गिरावट आई है। इस सूचकांक में पाकिस्तान 157वें, श्रीलंका 146वें, बांग्लादेश 162वें, चीन 175वें और म्यांमार 176वें स्थान पर है।
इस सूचकांक में रूस 155वें स्थान पर है, जबकि यूक्रेन 106वें स्थान पर है।


रिपोर्ट्स विदॉउट बॉर्डर्स
यह एक अंतर्राष्ट्रीय गैर-सरकारी संगठन है जिसका उद्देश्य मीडिया की स्वतंत्रता की रक्षा करना और उसे बढ़ावा देना है। इसका मुख्यालय पेरिस में है और इसे संयुक्त राष्ट्र में सलाहकारी दर्जा प्राप्त है।
इस सूचकांक में 0 रैंकिंग सबसे ख़राब स्थिति जबकि 100 सबसे बेहतर स्थिति को दर्शता है।