शहीद गुण्डाधुर राज्य स्तरीय तीरंदाजी अकादमी

174

छत्तीसगढ़ में बुधवार को 73वां गणतंत्र दिवस बस्तर जिला मुख्यालय जगदलपुर के लालबाग मैदान में मनाया गया। सशस्त्र बल के जवानों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को गार्ड ऑफ ऑनर दिया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने राज्य के सरकारी कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया। उन्हें अब हफ्ते में सिर्फ 5 दिन ही काम करना होगा। सरकार ने यह फैसला कर्मचारियों की कार्य क्षमता बढ़ाने के लिए लिया है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गणतंत्र दिवस समारोह के अवसर पर शहीद गुण्डाधूर के नाम राज्य स्तरीय तीरंदाजी अकादमी के स्थापना की घोषणा की। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा जनजातीय समुदाय के विकास के लिए निरंतर कार्य किया जा रहा है। राज्य शासन द्वारा बस्तर में आदिवासियों के विकास के साथ ही उनकी संस्कृति और परंपराओं के संरक्षण और संवर्द्धन की दिशा में तेजी से कार्य किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में आसना में बस्तर एकेडमी ऑफ डांस, आर्ट एवं लिटरेचर की स्थापना भी की गई है, जो बादल एकेडमी के नाम से प्रसिद्ध है।

 वर्ष 1910 में बस्तर में आदिवासी समाज के आंदोलन ‘भूमकाल’ का नेतृत्व करने वाले गुंडाधुर इतिहास के नायक हैं। उन्होंने शहीद गुण्डाधुर के व्यक्तित्व व कृतित्व पर विस्तार से प्रकाश डाला और कहा कि भूमकाल और गुंडाधुर का इतिहास देश के हर व्यक्ति को जानना चाहिए, जिससे देश न केवल स्वाधीनता आंदोलन में आदिवासी नायकों के योगदान से परिचित हो सके अपितु जल, जंगल और जमीन से जुड़ाव की प्रेरणा भी ले सके।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की घोषणाएं

1. रिहायसी क्षेत्रों में संचालित व्यवसायिक गतिविधियों के नियमितीकरण के लिए आवश्यक प्रावधान किए जाएंगे।
2. समस्त अनियमित भवन निर्माण के नियमितीकरण के लिए इसी साल कानून लाया जाएगा।
3. नगर निगम के बाहर निवेश क्षेत्रों में 500 वर्ग मीटर के भूखंड बिना मानवीय हस्तक्षेप के भवन अनुजा जारी की जाएगी।
4. शहरी क्षेत्रों की तरह ग्रामीण क्षेत्रों में शासकीय पट्टे की भूमि फ्री होल्ड की जाएगी।
5. लर्निंग लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया को सरल किया जाएगा। साथ ही बड़ी संख्या में परिवहन सुविधा केंद्र युवा रोजगार के लिए शुरू किए जाएंगे।
6. शासकीय कर्मचारियों के हित में अंशदायी पेंशन योजना के अंतर्गत राज्य सरकार का अंशदान 10% से बढ़ाकर 14% किया जाएगा।
7. शासकीय कर्मचारियों की कार्य क्षमता और उत्पादकता बढ़ाने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार अब 5 कार्य दिवस प्रति सप्ताह प्रणाली पर कार्य करेगी।
8. प्रदेश में तीरंदाजी को प्रोत्साहित करने के लिए जगदलपुर में शहीद गुंडाधुर राज्यस्तरीय तीरंदाजी अकादमी शुरू की जाएगी।
9. मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना प्रदेश के सभी नगरीय निकायों में शुरू की जाएगी।
10. नल कनेक्शन प्रक्रिया को सरल कर मानवीय हस्तक्षेप मुक्त किया जाएगा।
11. महिला सुरक्षा के लिए प्रत्येक जिले में महिला सुरक्षा प्रकोष्ठ का गठन किया जाएगा।
12. वृक्ष कटाई की अनुमति के नियमों को सरल कर नागरिकों के हित में नियमों आवश्यक संशोधन किया जाएगा।
13. औद्योगिक नीति में संशोधन कर अन्य पिछड़ा वर्ग में उद्यमिता विकास हेतु 10% भूखंड आरक्षित किए जाएंगे।
14. खरीफ वर्ष 2022-23 से प्रदेश में दलहन फसल जैसे मुंग, उड़द, अरहर इत्यादि की खरीदी भी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की जाएगी।
15. छत्तीसगढ़ में श्रमिक परिवारों की बेटियों के लिए मुख्यमंत्री नोनी सशक्तिकरण सहायता योजना शुरू की जाएगी। जिसके तहत हितग्राहियों की पहली 2 बेटियों के बैंक खाते में 20-20 हजार रुपए की राशि एकमुश्त भुगतान की जाएगी।