सीमा सड़क संगठन (BRO)

101

भारत की सीमाओं को सुरक्षित करने व उत्तर और उत्तर-पूर्वी राज्यों के दूरदराज के क्षेत्रों में बुनियादी ढाँचे के विकास के उद्देश्य से दिनांक 7 मई, 1960 को सीमा सड़क संगठन (BRO) का गठन किया गया था। इसने देश में आपदा प्रबंधन के कार्यो जैसे 2004 में तमिलनाडु में सुनामी, 2005 में कश्मीर में भूकंप, 2010 में लद्दाख में बाढ़ के बाद पुनर्निर्माण कार्यों में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

सीमा सड़क संगठन (BRO) के बारे में :

यह सड़क निर्माण कंपनी रक्षा मंत्रालय के तहत कार्य करती है।

इसका मुख्य कार्य देश के सीमावर्ती क्षेत्रों में सड़क संपर्क बनाना है।

बीआरओ देश के समग्र सामरिक और रणनीतिक लक्ष्यों को पूरा करने के लिए बुनियादी ढाँचे का निर्माण भी करता है।

यह भारतीय सेना की रणनीति-संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए उत्तरी और पश्चिमी सीमाओं के रखरखाव कार्यों व 53,000 किलोमीटर से अधिक सड़कों के लिए जिम्मेदार है।

बीआरओ फॉर्मेशन कटिंग, सरफेसिंग, पुल का निर्माण और रिसर्फेसिंग का कार्य करता है।

इसने भारत के पड़ोसी मित्र देशों जैसे अफगानिस्तान, भूटान, म्यांमार, श्रीलंका और नेपाल में सड़क निर्माण करके योगदान दिया है।