64वें रेमन मैग्सेसे पुरस्कार 2022 की घोषणा

100

रेमन मैग्सेसे पुरस्कार
रेमन मैग्सेसे को एशिया का नोबेल पुरस्कार भी कहा जाता है। विनोबा भावे प्रथम भारतीय थे, जिन्हें पहली बार रेमन मैग्सेसे पुरस्कार दिया गया था।
रेमन मैग्सेसे पुरस्कार 2022 का घोषणा कर दिया गया है।
इस साल का रेमन मैग्सेसे पुरस्कार कंबोडियाई मनोचिकित्सक सोथियारा छिम और जापानी नेत्र रोग विशेषज्ञ तदाशी हतोरी, फिलीपीन के बाल रोग विशेषज्ञ बर्नाडेट मैड्रिड और फ्रांसीसी पर्यावरण कार्यकर्ता गैरी बेनचेघि को दिया जाएगा।
कंबोडियाई मनोचिकित्सक सोथियारा छिम: सोथियारा छिम ने खमेर रूज के शासन में सताए गए पीड़ितों का इलाज करने में काफी नाम कमाया है।
उनके इस काम को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी सराहना भी मिली है।
जापानी नेत्र रोग विशेषज्ञ तदाशी हतोरी: जापानी नेत्र रोग विशेषज्ञ तदाशी हतोरी ने वियतनाम में हजारों ग्रामीणों का इलाज किया है।
इनमें से अधिकतर लोग वियतनाम युद्ध के दौरान हुई बमबारी के कारण आंखों की समस्या से जूझ रहे थे।
फिलीपीन के बाल रोग विशेषज्ञ बर्नाडेट मैड्रिड: यह पुरस्कार पाने वाले अन्य लोगों में फिलीपीन के बाल रोग विशेषज्ञ बर्नाडेट मैड्रिड भी शामिल हैं, जिन्होंने हजारों प्रताड़ित बच्चों और उनके परिवारों को चिकित्सा, कानूनी और सामाजिक सहायता प्रदान की है।
फ्रांसीसी पर्यावरण कार्यकर्ता गैरी बेनचेघि: फ्रांसीसी पर्यावरण कार्यकर्ता गैरी बेनचेघिब हैं जिन्होंने इंडोनेशियाई नदियों में प्लास्टिक प्रदूषण को साफ करने के लिए प्रयास किये हैं।