अंबेडकर सर्किट

125

हाल ही में, केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जी. किशन रेड्डी ने अंबेडकर सर्किट को कवर करने के लिये एक विशेष पर्यटक ट्रेन की घोषणा की। इसकी घोषणा राज्य पर्यटन मंत्रियों के राष्ट्रीय सम्मेलन में की गई।

प्रमुख बिंदु

वर्ष 2016 में प्रस्तावित अम्बेडकर सर्किट में निम्नलिखित स्थलों को शामिल किया गया हैं :

मध्य प्रदेश का महू (इंदौर)- डॉ. अंबेडकर का जन्मस्थान।

महाराष्ट्र का नागपुर- जहाँ डॉ. अंबेडकर ने बौद्ध धर्म अपनाया था।

दिल्ली- उनके जीवन के अंतिम वर्षों के दौरान का निवास स्थान।

दादर (महाराष्ट्र)- उनके पार्थिव शरीर के अंतिम संस्कार का स्थान।

विदित है कि पर्यटन मंत्रालय की स्वदेश दर्शन योजना के तहत कई विषयगत सर्किट्स (जैसे- रामायण और बौद्ध सर्किट) की पहचान की गई है। साथ ही, जून माह में रामायण सर्किट पर एक विशेष ट्रेन चलाई गई, जिसमें अयोध्या और नेपाल स्थित जनकपुर सहित भगवान राम के जीवन से जुड़े प्रमुख स्थानों को शामिल किया गया।

उल्लेखनीय है कि पर्यटन सर्किट को बढ़ावा देने के लिये 3,000 विशेष रेलवे कोच आरक्षित किये गए हैं।