Civil Service Current – क्लाइमेट इक्विटी मॉनिटर

115

पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने ‘क्लाइमेट इक्विटी मॉनिटर’ डैशबोर्ड की शुरुआत की है।

यह आकलन आई.पी.सी.सी. के संचयी उत्सर्जन और कार्बन बजट की अवधारणा को भी बल देगा।

इस डेशबोर्ड का विकास ‘एम.एस. स्वामीनाथन रिसर्च फाउंडेशन’ (MSSRF), चेन्नई तथा ‘नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्टडीज़’ (NIAS) बेंगलुरु ने अन्य स्वतंत्र शोधकर्ताओं के साथ मिलकर किया है।

इसकी संकल्‍पना और इसका विकास भारत के स्वतंत्र शोधकर्ताओं-MS स्वामीनाथन रिसर्च फाउंडेशन (MSSRF), चेन्नई में जलवायु परिवर्तन समूह और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस स्टडीज (NIAS) बेंगलुरु में प्राकृतिक विज्ञान और इंजीनियरिंग विभाग ने अन्‍य स्‍वतंत्र शोधकर्ताओं के साथ किया है। MSSRF टीम का नेतृत्व जलवायु परिवर्तन और NIAS टीम में सीनीयर फैलो प्रो. टी. जयरामन और एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. तेजल कानिटकर ने किया।

क्लाइमेट इक्विटी मॉनिटर का उद्देश्य पर्यावरण संबंधी खतरों से रक्षा करने के साथ सभी के लिए पर्यावरण के लाभों तथा साझा सरोकारों लेकिन विभिन्‍न देशों की अलग-अलग क्षमताओं और जिम्‍मेदारियों के आधार पर सभी पक्षों के कामकाज की निगरानी करना है। तुलना के लिए देशों के कामकाज और नीतियों की सूचना भी अद्यतन की जाएगी।