पीएम प्रणाम योजना

74

संदर्भ: राज्यों को प्रोत्साहित करके रासायनिक उर्वरकों के उपयोग को कम करने के उद्देश्य से सरकार द्वारा ‘पीएम प्रणाम’ अर्थात कृषि प्रबंधन हेतु वैकल्पिक पोषक तत्त्वों का संवर्द्धन (PM PRANAM -Promotion of Alternate Nutrients for Agriculture Management Yojana) योजना शुरू की गयी है।

योजना के प्रमुख बिंदु:

कोई अलग बजट नहीं: इस योजना का अलग से कोई बजट नहीं होगा और इसे उर्वरक विभाग द्वारा संचालित योजनाओं के तहत “मौजूदा उर्वरक सब्सिडी की बचत” के माध्यम से वित्तपोषित किया जाएगा।

सब्सिडी बचत का 50%, उस राज्य को अनुदान के रूप में दिया जाएगा जो पैसा बचाता है।
योजना के तहत प्रदान किए गए अनुदान का 70% – गाँव, ब्लॉक और ज़िला स्तर पर वैकल्पिक उर्वरकों और वैकल्पिक उर्वरक उत्पादन इकाइयों के तकनीकी अपनाने से संबंधित – परिसंपत्ति सृजन के लिये उपयोग किया जा सकता है।


शेष 30% अनुदान राशि का उपयोग, उर्वरक उपयोग में कमी और जागरूकता पैदा करने में शामिल किसानों, पंचायतों, किसान उत्पादक संगठनों और स्वयं सहायता समूहों को पुरस्कृत करने तथा प्रोत्साहित करने के लिये किया जा सकता है।


इस उद्देश्य के लिये, उर्वरक मंत्रालय के डैशबोर्ड, एकीकृत उर्वरक प्रबंधन प्रणाली (Integrated Fertilizer Management System – iFMS) पर उपलब्ध डेटा का उपयोग किया जाएगा।